MUKHYAMANTRI KANYADAN HATHLEVA योजना राजस्थान मुख्यमंत्री कन्यादान हथलेवा योजना 2021 FREE APPLY

Spread the love

राजस्थान सरकार ने अपने प्रदेश की जनता के लिए एक बड़ी सोगात हे जिसका नाम हे मुख्यमंत्री कन्यादान हथलेवा योजना हे यह योजना लडकियों के परिवार जन के लिए उतनी ही महत्वपूर्ण हे जितनी की सरकार के लिए इस योजना का मकसद सरकार को अपने प्रदेश की बेटियों को आर्थिक रूप से संबल करने और परिवार वालो को थोड़ी आर्थिक सहायता प्रदान करने से हे ताकि दोनों पर कम बोझ पड़े हे इसके लियें सरकार ने अपने राज्य की कन्याओ के कन्यादान करने हेतु इस योजना का आरंभ किया हे, क्योंकि सरकार भी अपने प्रदेश की जनता हेतु समय समय पर योजनाये लाती रहती हे |

योजना
Table Of Contents

पात्रता

इस योजना की पात्रता के लिए जो परिवार गरीबा रेखा के नीचे व BPL , अन्त्योदय श्रेणी में लाभान्वित परिवारों की अधिकतम दो लडकियों तक इस योजना का लाभ मिल सकता हे जिसके लिए अनिवार्यता लड़की की उम्र 18 वर्ष पूर्ण कर चुकी हो तब जाके ही वो इस योजना के लिए पात्रता रखती हे | इस योजना में स्नातक पास आवेदन करने वाली बेटियों को 51 हजार रूपये तक की सहयता राशि तक प्रावधान हे क्योंकि इस योजना का मुख्य ध्येय यही हे बेटिया अपने परिवार वालो हेतु किसी प्रकार का बोझ न हो और उनकी पढाई का खर्च का बोझ परिवार वालो पे न पडे और बालिका की पढाई भी पूर्ण हो सके |

इस योजना का मुख्य मोटिव यही हे की बेटियों के लालन पोषण हेतु किसी भी प्रकार की परेशानी न करनी पड़े इसके लिए सरकार अपना दायित्व समझती हे और समय समय पर अपने प्रदेश की बेटियों हेतु ऐसी कल्याणकारी योजना के लिए जारी करती रहती हे , ताकि समय पर सारी सम्पूर्ण क्रियाये की रुपरेखा व इसके द्वारा सारी सभी आवश्यक सभी क्रियाये कर सके और राज्य का कल्याण और खुशहाल जीवन की प्राप्ति क्र सके और अपना जीवन का निर्वहन उचित और गुणवता तरीके से कर सके |

अनुभाग

इस योजना से सम्बन्धित अनुभाग हे सामाजिक न्याय और अधिकारिता विभाग के अनुभाग के अंतर्गत यह योजना आती हे यह अनुभाग इस योजना के लिए उत्तरदायी हे इसी के विभाग के अंतर्गत ही सम्पूर्ण क्रियान्वयन किया जाता हे व सारे अधिकारिक फ़सलो के लिए भी यह अनुभाग अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता हे |

इस अनुभाग के द्वारा ही राज्य के बेटियों के लिए योजना का क्रियान्वयन किया जाता हे क्योंकि इस विभाग के द्वारा ही इस योजना का सम्पूर्ण राज्य का प्रभार इसी के अंतर्गत आता हे और यह इसके लिए अपनी जवाबदेही भी रखता हे , क्योंकि अधिकारिक जितने भी फैसले किये जाते हे वो सब इस अनुभाग के द्वारा ही लिए जाते हे क्योंकि इस योजना का एक बार में सम्पूर्ण डिजाईन का विवरण राज्य सरकार ने तैयार करके अपनी जवाबदेही पूर्ण की हे उन्होंने इसके लिए इस सम्भ्न्धित अनुभाग को स्थापित किया ताकि यह अनुभाग अपनी सम्पूर्ण जिम्मेदारी के साथ अपने दायित्वों का निर्वहन बिना किसी के दबाव व स्वतंत्र होकर कर सके |

लाभ

  • इस योजना के अंतर्गत एक परिवार से मुख्यत व अधिकतम दो लडकिया लाभ की पात्रता रखती हे
  • इस योजना में अनुसूचित जाति / जनजाति / अल्पसंख्यक वर्ग के BPL परिवार की कन्याओ के विवाह पर 31000 /- , 10वीं पास के लिए 41000 /- व स्नातक पास हेतु 51000 /- रूपये की सहायता राशी देने का प्रावधान हे |
  • अनुसूचित जाति / जनजाति / अल्पसंख्यक वर्ग को सभी वर्गों के बीपीएल परिवारों , अन्त्योदय परिवार , आस्था कार्डधारी परिवार , आर्थिक दृष्टि से कमजोर महिलाओ की कन्याओ के विवाह पर 21000 /- व 10वीं पास के लिए 31000 /- तथा स्नातक पास के लिए 41000 रूपये प्रति पुत्री देय हे |
  • विशेष योग्य्जन व्यक्तियों की कन्याये जिनकी उम्र 18 वर्ष या उससे ज्यादा हो तो उनके विवाह पर 21000 /- 10वीं पास हेतु 31000 /- व स्नातक पास के लिये 41000 रूपये प्रति पुत्री देय हे |
  • महिला खिलाडी के खुद के विवाह हेतु 21000 रूपये व 10 वीं पास हेतु 31000 /- तथा स्नातक हेतु 41000 रूपये तक का प्रावधान हे |
  • पालनहार योजनान्तर्गत लाभन्वित वे कन्याये जों 18 वर्ष या उससे अधिक उम्र की उनके विवाह पर भी 21000 /- 10वीं पास हेतु 31000 /- व स्नातक पास के लिये 41000 रूपये प्रति पुत्री देय हे |

आवश्यक दस्तावेज

  1. उक्त योजना में ध्यान देने की बात यह की इस योजना को शादी की दिनांक के 6 माह के अंदर ही आवेदन कर सकते हे |
  2. विवाह पंजीयन प्रमाण पत्र
  3. राशन कार्ड (लड़की के माता-पिता) जो आवेदन कर रहे हे
  4. योजना का फार्म पुरा भरा हुआ
  5. बीपीएल कार्ड अगर होतो
  6. शपथ पत्र या अनुशंषा पत्र जो की फार्म के साथ सलंग्न हो उसके अनुसार ही भरे
  7. आवेदक की बैंक की पासबुक
  8. आवेदक का जातिव मुलनिवास प्रमाण पत्र
  9. वर-वधू की पासपोर्ट साइज़ फोटो
  10. मार्कशीट / अध्ययन प्रमाण पत्र दोनों के वर-वधू
  11. जन्मप्रमाण पत्र या दसवी की अंकतालिका दोनों के वर-वधू
  12. दुबारा शादी नहीं करने का प्रमाण पत्र विधवा महिलाओ हेतु ( पार्षद के द्वारा ) प्रमाणित प्रती
  13. आधार कार्ड दोनों के वर-वधू
  14. मृत्यु प्रमाण पत्र विधवा की पुत्री के विवाह हेतु
  15. पेंशन प्रमाण पत्र विधवा माँ की पुत्री के विवाह हेतु
  16. आवेदक के मोबाइल नंबर जो जनाधार कार्ड में जुड़े हुए होने चाहिए
  17. जनाधार कार्ड व आधार कार्ड में नाम एक सामान होने चाहिए

विशेष

विधवा के अगर पुत्र जिसकी उम्र 25 वर्ष पूर्ण की हो तो इस योजना के लिए वो पात्र नहीं हे क्योंकि उस स्तिथि में उसके पास कमाने का जरिया हो जाता हे क्योंकि पुत्र कमाने के लायक हो जाता हे इस हेतु फिर वो इस योजना हेतु अपनी पात्रता खो देता हे इस वजह से सरकार ने इसकी बाध्यता क लिए थोडा सा कठिन कार्य किया हे परन्तु ये स्तिथि बहुत ही कम उत्पन होती हे क्योकि हर कोई इस शर्त को पूरा नही कर पाता हे इस हेतु ज्यादा परेशानी हेतु कोई आवश्यकता नहीं हे |

आवेदन केसे करे

आवेदन करने से पूर्व आपको इसका एक ऑफलाइन फार्म भी भरना होता हे जिसको आप एक फाइल के रूप में तैयार की जाट हे जिसके अंतर्गत उसमे सारे दस्तावेज और शपत पत्र तैयार करने पड़ेंगे क्योकि ये सब उसमे ऑनलाइन करते समय सबमिट करने होते हे इसके हेतु ये सारे दस्तावेज उचित प्रकार से जमा करके रखने चाहिए ताकि समय पर अपनी हेतु आपको आपके नजदीकी ईमित्र पर जाना पड़ेगा वहा पर आवश्यक दस्तावेज ले जाकर आप उनके माध्यम से इस योजना का फॉर्म भर सकते हे | https://sso.rajasthan.gov.in/signin

MARRIAGE CERTIFICATE विवाह प्रमाण पत्र केसे बनाये राजस्थान में https://digitalshayata.com/विवाह-प्रमाण-पत्र-केसे-बन/

आशा करते हे हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपके काम आई हो , आपके पास हमारे लिए कोई सुझाव और कोई जानकारी हमारे साथ साँझा करना चाहते हे तो हमे comment करके अवश्य बताये धन्यवाद |

ज्यादा जानकरी के लिए आप हमारी वेबसाइट पर

जरुर https://digitalshayata.com/ आये और हमारा youtube चैनल भी सब्सक्राइब करे https://www.youtube.com/channel/UC2wK3bNCOPeTWhVhK9CcrXQ

Leave a Reply

%d bloggers like this: