विवाह प्रमाण पत्र केसे बनाये राजस्थान में 2021

Spread the love

आज के समय में विवाह करना मर कुछ समस्याओ का सामना करना पड़ता हे, परन्तु विवाह प्रमाण पत्र बनाने पड़ता हे में काफी समस्याओ का सामना करना पड़ता हे क्योंकि जानकारी के आभाव में आमजन को बहुत घूमना पड़ता हे | आज के समय में अपनी विवाह की पुष्टि करने हेतु इस आवश्यक दस्तावेज की अनिवार्यता हर जगह पर कर दी गई हे | इसके आभाव में आप आपके विवाह की कानूनन पुष्टि नहीं कर सकते हे तो इसको बनाना बहुत जरुरी होता हे |

विवाह प्रमाण पत्र

आवेदन कहा करे

आवेदन हेतु आपके लिए आपके नगर में या निकाय या ग्रामीण परिवेश में आप जेसे सहरो में तो नगर निगम या नगर परिषद के माध्यम से व कस्बो या छोटे शेहरो में नगर पालिका व पंचायत वाले गावो में इसे ग्राम पंचायत के माध्यम से बनवाया जा सकता हे | इसके लिए जेसे नगर निगम , परिषद् या पालिका में इसे रजिस्ट्रार , अधिशाषी अधिकारी जारी करता हे व ग्राम पंचायत में इसे ग्राम सेवक जारी करता हे | इसके लिए आपको आपके सम्बन्धित कार्यालय में आवेदन शादी के 30 दिन के अंदर प्रस्तुत करना पड़ता हे |

आवश्यक दस्तावेज

इसके लिए एक जरुरी दस्तावेजो की सूचि की सम्पूर्ण जानकारी यह उपलब्ध होगी इसके लिए आपको एक पूरी विवाह फाइल पूर्ण करवानी पडती हे जिसमे विवाह के आवेदन हेतु एक फार्म का पूरा सेट होता हे जिसे की पूरा भरके व आवश्यक दस्तावेज उसके साथ सलग्न करके उस फाइल को को वकील के अपस से नोटरी करवानी पडती हे जिसके बाद फाइल कार्यालय में पहुचती हे |

कार्यालय में पहुचने के बाद उस फाइल को अधिकारी के सामने प्रस्तुत किया जाता हे जहा पर उस फाइल को मार्क किया जाता हे और चेक किया जाता हे की इसमें सलग्न सभी प्रकार के दस्तावेज सही प्रकार से तो हे फाइल में किसी भी प्रकार की कोई त्रुटी तो नहीं हे , उसके बाद फिर फेटे करके एक रशीद काटी जाती हे जिसको निगम के पक्ष में या परिषद् या पालिका के द्वारा इन पेसो को लिया जाता हे

दस्तावेज की सूची निम्न प्रकार हे

  • वर – वधु की 4-4 पासपोर्ट साइज़ फोटो
  • 2-2 जॉइंट फोटो वर – वधु दोनों की
  • 1 फोटो वर के पिता की व 1 फोटो वधु के पिता की गवाह के लिए
  • वर – वधु के आधार कार्ड
  • वर – वधु के दोनों पक्षों के माता पिता के आधार कार्ड
  • वर – वधु की अंकतालिका दसवी बोर्ड
  • जन्मतिथि के लिए जन्मप्रमाण पत्र या टी.सी .
  • पादरी , कादरी , या पंडित जिसने भी शादी ( अपने धर्म के रीती रिवाजों के अनुसार ) उसका आधार कार्ड व 1 फोटो
  • शपत पत्र वर – वधु का वर – वधु के पिता का व पंडित का भी
  • घोषणा पत्र वर – वधु का

उक्त फाइल तैयर होने के उपरांत आपको एक और कार्य करना हे की आपको आपकी विवाह फाइल को ऑनलाइन भी करवाना पड़ेगा | आप किसी ईमित्र के माध्यम से या और किसी शॉप से करवा सकते हे | अगर आप स्वयं इसे भरना चाहे तो आप स्वयं भी इसको भर सकते हे बहुत ही सरल होता हे इसमें बस अपनी सारी जानकारी सही और ध्यान पूर्वक भरने की आवश्यकता होती हे क्योंकि फिर यही डाटा सम्बंधित कार्यालय में पहुच ता हे तो कोई त्रुटी रह जाती हे तो फिर थोड़ी परेशानी आती हे उसमे संशोधन करने हेतु क्योंकि फिर बड़े चक्कर काटने पडते हे ,

इस हेतु अगर ऑनलाइन फार्म भरते समय उक्त जानकारी स्वयं के द्वारा जाँच लेनी चाहिए क्योकि किसी भी प्रकार की परेशानी न हो इस वजह से सम्पूर्ण जानकारी भलीभांति जांचकर भरना चाहिए |

दिए गये लिंक की सहायता से भर सकते हे https://pehchan.raj.nic.in/pehchan3/P_MarriageRegistration.aspx?YzljMDk3NTU=OGQ4ZjRjOWZkMDUzZTM0OTVmNmMzMTg=

आवेदन भरने के पश्चात आप उसका प्रिंटआउट लेकर फाइल में अवश्य लगाये |

फाइल को तैयार करने के लिए ऑफलाइन फार्म की आवश्यकता होती हे उसी पे ही वकील का नोटेरी करता हे इसको आप निचे दिए लिंक की सहयता से डाउनलोड कर सकते हे | परन्तु ध्यान रहे आप प्रिंटआउट पाईपेपर जो शपत पत्र इनमे लगते हे उसे ही उपयोग में ले |

LINK—–https://drive.google.com/file/d/1GOrWyiVoSvIQED1DbYmDNdcRfV2urmkK/view?usp=sharing

अब आप फाइल को सीधा विवाह पंजीयन कार्यालय में प्रस्तुत कर सकते हे लेकिन ध्यान रहे के फाइल के साथ आप स्वयं के सम्पूर्ण ओरिजिनल दस्तावेज अवश्य लेकर जावे व वधु को भी साथ ले जावे ताकि उसी वक़्त विवाह पंजीयन अधिकारी के समक्ष आप प्रस्तुत होकर आपका विवाह प्रमाण पत्र कार्यालय से प्राप्त कर सकते हे |

विवाह प्रमाण पत्र हेतु वर की उम्र 21 वर्ष व वधु की उम्र 18 वर्ष होनी चाहिए

क्योंकि विवाह प्रमाण पत्र का मूल उद्देश्य ही यही होता हे की बल विवाह पर रोक लगे जाये इस हेतु इस प्रमाण पत्र को भी अनिवार्य किया गया हे क्योंकि इससे ये साबित हो जाता हे जिसने भी अपने विवाह का प्रमाण पत्र बनवाया हे वह बालिग हे व विवाह की सरकार के द्वारा सारी शर्तो को पूर्ण करने वाला जो होता हे उसको ही उसका विवाह प्रमाण पत्र जारी किया जाता हे क्योंकि जब वर – वधु अगर दोनों में से किसी एक की उम्र कम होगी तो उनका विवाह प्रमाण पत्र जारी नही किया जायेगा और वो खुद ही इसके लिए आवेदन नहीं करेगा इस हेतु इस प्रमाण पत्र को भी और भी आवश्यक हो जाता हे |

विवाह प्रमाण पत्र के लाभ

  • यह प्रमाण पत्र आपकी शादी का कानूनन सबूत होता हे
  • इसके द्वारा ही आप शादी के बाद अपनी पत्नी के आधार में एड्रेस बदलवा सकते हे
  • इसके द्वारा ही नये राशन में नाम जोड़ा जाता हे
  • वर व वधु के पासपोर्ट बनाते समय इसका उपयोग किया जाता हे
  • बैंक में खता खोलने के लिए भी इसकी जरूरत पडती हे
  • बालविवाह को रोकता हे
  • शादी के बाद धोखाधड़ी कोई भी करता हे तो उसका सबूत के रूप में काम में ले सकते हे
  • ट्रेवल वीजा बनवाने में
  • शादी शुदा या तलाकशुदा दोनों ही स्थितियो में आवश्यक होता हे
  • जीवन बीमा में फायदा लेने के लिए भी यह प्रमाण पत्र जरुरी होता हे |

विवाह प्रमाण पत्र का आवेदन विवाह की तारीख के 30 दिन के भीतर करवाना अनिवार्य होता हे अन्यथा उसके बाद आपको अतिरिक्त शुल्क देय होगा |

यदि आपको हमारी पोस्ट पसंद आती हे तो इसे लाइक शेयर जरूर करे और हमारे YOUTUBE CHANNEL को भी सब्सक्राइब कर ले हम वह काफी informative videos डालते रहते हे |

और भी जानकारी के लिए हमारी पोस्ट पड़े मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना 2021 ( Free Health Insurance)https://digitalshayata.com/मुख्यमंत्री-चिरंजीवी-योज/

YOUTUBE CHANNEL LINK SUBSCRIBE HERE :— https://www.youtube.com/channel/UC2wK3bNCOPeTWhVhK9CcrXQ

Share this:

 

2 thoughts on “विवाह प्रमाण पत्र केसे बनाये राजस्थान में 2021”

Leave a Reply

%d bloggers like this: