Subsidy (सब्सिडी ) के प्रकार 2021

Spread the love

Subsidy– सब्सिडी इण्डिया की एक योजना हे इस का उद्देश्य भारत के नागरिक जो की किसी भी कार्यो को करने के लिए अपनी पूंजी लगाते हे इस योजना में सरकार के द्वारा उनकी मदद के लिए सब्सिडी के रूप में उन्हें छुट प्रधान करती हे जो उन्हें अपना कार्यो का पलान दिखाना होता हे इस के बाद उनके कार्यो व् कितनी पुजी या लागत लगी हे को देख कर उन्हें पेसे के रूप में सब्सिडी प्रधान करती हे जो या तो उनके खातो या चेक के रूप में दी जाती हे इसे हम दो प्रकार के कार्यो में सब्सिडी दी जाती हे इसे लोन के रूप में भी दिया जाता हे

Subsidy कब लागु की गई – इस योजना को 25/06/2015 में pm नरेन्द्र मोदी के द्वारा लागु किया गया जो की इससे पहले इसे `सब्सिडी को सबसे पहले बेंक ऋण ,HOME LONE , पर ब्याज के रूप में जो छुट जाती थी इसे Subsidy कहा जाता था

Subsidy कितने प्रकार की होती हे – सब्सिडी दो प्रकार की होती हे प्रत्येक्ष व् अप्रत्येक्ष सब्सिडी

1 इकोनोमिक सब्सिडी – इस को छोटे उद्योगों के लिया था छोटे पलांट या मशीनों के लिए तेयार किया गया था इसके निम्न प्रकार पर संसोधित किया गया हे इन सब के अलग अलग प्रकार हे जो आप निचे देख सकते हो यह निम्न वर्ग के लोगो के लिये हे

  • बिजली उर्जा विभाग द्वारा सब्सिडी -जेसे – इस में सरकार के द्वारा खेतो में लगाई गई सोर उर्जा यंत्र से हे , बड़े बड़े उद्योगों में बिजली का ज्यादा संचार पर विधुत निगम लिमिटेड द्वारा दी गई छुट या सब्सिडी , घरो बिजली बिल में BPL परिवार को दी जाने वाली सब्सिडी ,पानी की सिचाई के लिए सब्सिडी आदि शामिल हे इस में किसानो के द्वारा अपनी जमीन पर सोर पेनल लगवाना
  • सिचाई पर सब्सिडी – जेसे किसानो को खेती करने के लिए उनके खेतो में फुआरे लगवाना मत्स्य पालन के लिए पानी की व्यवस्था करना ,बरसात नही होने पर किसानो के लिए समय समय पर नहरों में पानी भेजना, WATER PUMP लगवाना . पानी के बिल पर छुट या माफ़ करना . नहर , नदियों , तालाबो की सफाई करना आदि इसके लिए प्रधान मंत्री के द्वारा किसानो को खेतो में पानी की पूर्ति के लिए सब्सिडी योजना चलाई गई
  • एग्रीकल्चर विभाग द्वारा दी जाने वाली सब्सिडी – इस में सरकार किसानो को कृषि से सम्बंधित मशीनों या यंत्र खरीदने पर किसानो को सब्सिडी देती हे , जो की 40 से 50 प्रतिशत के बिच होती हे यह उन विद्याथियो को जो एग्रीकल्चर के विषय लेने पर विद्याथियो को छात्रवर्ती के रूप में आर्थिक मदद करना किसनो में द्वारा कृषि से सम्बंधित 3 यंत्रो पर सब्सिडी प्रधान करती हे, इसमें
  • परिवहन सब्सिडी – इस के लिए सरकार के द्वारा जो लोग 2 -3-4 पहिय वाहन लेते हे उनको 50 % तक की छुट या सब्सिडी देते हे जिस में केवल ST,SC, व OBC के लिए लागु हे इस से बिहारी लोगो की बेरोजगारी को देखते हुए यह मुख्य मंत्री जी के द्वारा लागु की गईयह 2018 में लागु की गई थी
  • उद्योग सब्सिडी – यह योजना केवल उद्योग के लिए जाति हे इससे जरुरत मंद लोगो की बेरोजगारी काम होती हे इससे उन्हें व्यापार को बदने में मदद मिलती हे तथा इस पर सरकार के द्वारा 15% की छुट मिलती हे तथा इस के आधार पर वह इस योजना का लाभ आसानी से मिल जाता हे यह योजना 2008 में लागु की गई थी
  • संचार संसाधनों पर सब्सिडी – यह सब्सिडी लोगो के सुचना पहुचने के यंत्रो पर दी जाति हे जेसे मोबाईल ,टेलीफोन ,कम्पूटर , आदि वस्तुए आती हे जिससे हम मने जिओ कम्पनी में जिओ मोबाईल पर छुट जो की इस योजना को सरकार के द्वारा 2018 किया गया इससे सभी लोग एक दुसरे को सूचना आसानी से पंहुचा सके
  • इधन सब्सिडी – जेसे की आप सब जानते हे की मनुष्य को खाना बनाने के लिए ईधन की जरुरत पड़ती हे जेसे गेस इस के लिए सरकार के द्वारा उज्व्वल योजना चलाई गई इस योजना में गेस पर BPL परिवार व उज्व्वल योजना लाभ के रूप में छुट जो की उनके खातो में दल दी जाति हे जिसे गरीब परिवारों व इधन प्रयोग कंपनियों को बहुत राहत मिली हे

2 सोशल सब्सिडी – यह सब्सिडी जरूरत मंद लोगो को दी जाति जिससे उनकी आर्थिक स्तथी में सुधर आता के इसमें कम्पनिया अपने से छोटे लोगो को मॉल क्रय करती हे तो सरकार के द्वारा दी गई छुट के रूप को प्रधान कर अपना व्यापर बनाये रखते हे इसको निम्न रूप हे

  • आवास योजना सब्सिडी – इस योजना की सुरुआत pm नरेन्द्र मोदी जी के द्वारा 15 जून 2015 को की गई इस योजना का उद्देश्य ग्रामीण व् शहरी शेत्रो में पक्के मकान बनवाना था इसलिए सरकार की इस योजना में लोगो को 2.50 लाख रूपये की राशी दी गई जिसे तीन किस्तों के रूप में दिया हे इसमें वह उसी इस के लिए सब्सिडी प्रधान करता हे
  • स्वच्छता अभियान सब्सिडी – योजना का मुख्य उद्देश्य शोचालय बनवाना था इस का उद्घाटन 2 अक्टूबर 2014 को किया गया इसमें सरकार को जो मोसमी बीमारियों को दूर करने के लिए गाव व शहरो में इस योजना को चलाया गया सभी खुल्ले में शोच न जाये इससे बिमारिय कम हो इस में सरकार के द्वारा 20-25 हजार रुपये की राशि दी जाती जिसे आप सब्सिडी समज सकते हो
  • शिक्षा पर सब्सिडी -इसमें सरकार जरुरत मंद लोगो के शिक्षा के लिया लोन देती हे जो लोग पढाई करने वालो के लिए निरन्तर पढाई करने के लिए लोन या नगद रकम देती जिससे 18-30 साल के लोगो को जाति हे इस के आधार पर वह स्वय या अपने बच्चो को आछी शिक्षा प्रधान करा सके इसमें परिवार की आई 6 लाख से कम हो और जो लोग पढाई छोड़ देते हे उनको यह लोन नही दिया जाता

Leave a Reply

%d bloggers like this: